UPCOMING EXAMS:
SSC - CPO (SI/Delhi Police) Tier-1 : 10 Jun, 2018| SBI-Clerk Phase - I (Preliminary Examination) : 30 Jun, 2018|

Get 3 Steps for Preparation of exam

2
How Ready You Are
Subject Wise Report
Module Wise Report
Mock Test
3
Buy The Plans
GK 200
Rs.200
One Subject
Rs.350
Silver
Rs.750
CCC 250
Rs.250
RED 100
Rs.100
CCC 150
Rs.150
Bronze
Rs.500
Gold
Rs.1400
Buy Now

सरकारी नौकरी पाने की आपकी इच्छा, पूरी करेगी टीम "सरकारी परीक्षा"

" विशेषज्ञों का पिटारा / Experts Views "

pariksha_kumari
परीक्षा कुमारी

परीक्षा कुमारी का 'खोज सन्देश'

एक परीक्षार्थी की आदत बन गयी थी, अपने आप को कोसते रहना | अपनी कमियों का दोष, अपने आप को देते रहना | स्वयं की निंदा करना अपने आत्मसम्मान का हनन है | मेरे अनुसार अगर 'कोसने' के बजाए स्वयं को 'खोजते' तो क Read More

pariksha_kumariअनुमान गुरु

अनुमान गुरु का 'व्यस्तता मंत्र'

परीक्षार्थी अक्सर अपने लक्ष्य से भटक जाते हैं, जिसका कारण मन का भटकाव होता है | यह बहुत पुरानी पंक्ति है कि "मन के हारे हार है, मन के जीते जीत" | कम समय, कम संसाधन और आर्थिक कमियों के चलते कभी कभी बिग Read More

X

परीक्षा कुमारी का 'खोज सन्देश'

एक परीक्षार्थी की आदत बन गयी थी, अपने आप को कोसते रहना | अपनी कमियों का दोष, अपने आप को देते रहना | स्वयं की निंदा करना अपने आत्मसम्मान का हनन है | मेरे अनुसार अगर 'कोसने' के बजाए स्वयं को 'खोजते' तो कहाँ से कहाँ पहुँच जाते | स्वयं की खोज से अपनी उभरती कमियों को पहचान कर उनको दूर करने के उपाय ढूँढना एक प्रेरक पहलू है | बात सरकारी परीक्षाओं की तैयारी और उनके प्रबंधन की करें तो sarkaripariksha.com एक सुलझा हुआ प्लेटफार्म है जो आपका दोस्त, गुरु और मार्गदर्शक है | समय रहते इस मौके का फायदा उठाऐं ताकि बाद में पछताना न पड़े |

'अपनी कमियों की खोज से फैसले आसान हुए,

sarkaripariksha.com की मदद से हौसले परवान चढें'

X

अनुमान गुरु का 'व्यस्तता मंत्र'

परीक्षार्थी अक्सर अपने लक्ष्य से भटक जाते हैं, जिसका कारण मन का भटकाव होता है | यह बहुत पुरानी पंक्ति है कि "मन के हारे हार है, मन के जीते जीत" | कम समय, कम संसाधन और आर्थिक कमियों के चलते कभी कभी बिगड़ता स्वास्थ्य भी इस भटकाव का कारण बन जाता है | इसी बीच अपना दर्द भूलने के लिए अलग अलग तरह के नशे का सहारा लेकर नौजवान पुर्णतः असंतुलित हो जाते हैं | Facebook, YouTube इत्यादि भी एक प्रकार के नशे ही हैं | मेरा कहना सिर्फ यह है कि यदि व्यक्ति व्यस्त हो, अपने लक्ष्य की ओर केन्द्रित हो, आचार विचारों का दृढ हो और उन्नतशील हो तो फ़ालतू बातों के लिए समय नहीं रहता ! यह सब परीक्षा की बेहतर तैयारी के अति आवश्यक गुण हैं और यही सब गुण 'डेलिब्रेट प्रैक्टिस' के भी अंग हैं | यदि मन अतिचंचल हो तो 'अनुमान गुरु' की मानें अपने को sarkaripariksha.com से जोड़ें, जिसमे व्यस्तता के सैकड़ों नुस्खे मिल जाते हैं | जैसे मॉक टेस्ट, अध्ययन सामग्री, विश्लेषण रिपोर्ट, अभ्यास प्रश्न, सफलता के गुरुमंत्र और साथ ही परीक्षा देने का प्रशिक्षण !! इत्यादि | 'सुस्त नहीं तुम व्यस्त रहो, लक्ष्य साधो और चुस्त रहो' |

X