सी टैट परीक्षा - I

सी-टेट का आयोजन मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार के तत्वावधान में केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ( CBSC) द्वारा किया जाता है। सी-टेट में उतीर्ण होने पर एक व्यक्ति भारत सरकार के विद्यालयों, जैसे- के.वि.एस./एन.वि.एस./तिब्बती विद्यालय आदि, की नौकरियों के लिए योग्य हो जाता है।

सी-टेट के आयोजन के मुख्य उद्देश्य हैं:
1. सरकारी शिक्षकों की नौकरियों हेतु आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों की शैक्षणिक योग्यता और कुशलता के लिए सामान्य मानक और मापदंड निर्धारित करना।
2. उन राज्यों को, जो स्वयं अपने लिए पात्रता परीक्षण का निष्पादन नहीं कर सकते हैं, सी-टेट के अंकों के आधार पर शिक्षकों की भर्ती करने हेतु समर्थ बनाना।
3. शिक्षा और शिक्षकों की जो गुणवत्ता भारत सरकार प्रदान करती है, इसके महत्व को संप्रेषित करना और दूसरे शैक्षणिक संस्थानों को ऐसा करने के लिए उत्साहित करना।

सी-टेट अभ्यर्थियों को दो स्तरों पर योग्य बनता है:
1. प्राथमिक स्तर के शिक्षक: वर्ग I से V
2. प्रारंभिक स्तर के शिक्षक : वर्ग VI से VIII
दो अलग-अलग सी-टेट प्रश्न-पत्र होते हैं। प्राथमिक स्तर के अध्यापन कार्य हेतु आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों को प्रश्न-पत्र I को पास करने की आवश्यकता होती है, जबकि प्रारंभिक स्तर के अध्यापन हेतु आवेदन करने वाले उन अभ्यर्थियों को, प्रश्न-पत्र II पास करना आवश्यक होता है। वैसे अभ्यर्थी, जो वर्ग I से VIII तक के लिए अध्यापन कार्य का इरादा रखते हैं, प्रश्न-पत्र I और प्रश्न-पत्र II दोनों, को पास करने की आवश्यकता होती है। दोनों प्रश्न-पत्रों के लिए दो भाषा पत्र होंगे। भाषा II, भाषा I से अलग होगी। एक अभ्यर्थी, उपलब्ध भाषा विकल्पों में से कोई भी भाषा, भाषा I और दूसरी भाषा, भाषा II के रूप में चुन सकता है और इसे स्वीकृति पृष्ठ पर रेखांकित करने की आवश्यकता होगी।
दोनों प्रश-पत्रों, प्रश्न-पत्र I तथा प्रश्न-पत्र II, में सभी प्रश्न बहुविकल्पीय प्रश्न (MCQS), प्रत्येक एक अंक वाले, होंगे। प्रत्येक प्रश्न-पत्र में 150 प्रश्न होंगे और परीक्षा की अवधि 2.5 घंटे की होगी। गलत उत्तरों के लिए कोई ऋणात्मक अंकन नहीं होगा।